आत्म सम्मान उद्धरण हिंदी में

No comments
मुसीबतों से भागना, 
नयी मुसीबतों को निमंत्रण देने के समान है| 
जीवन में समय-समय पर 
चुनौतियों
 एंव 
मुसीबतों 
का सामना करना पड़ता है 
एंव यही जीवन का सत्य है| 
एक शांत समुन्द्र में नाविक 
कभी भी कुशल नहीं बन पाता

No comments :

Post a Comment